जिला पदाधिकारी डॉ० त्यागराजन एसएम ने गैहलोर अवस्थित पर्वत पुरूष दशरथ मांझी स्मृति भवन का निरीक्षण करते हुए और आकर्षक बनवाने का निर्देश दिया।

Share

जन जोश हिंदी समाचार पत्र
गया, 30 जून 2022

 

जिला पदाधिकारी डॉ० त्यागराजन एसएम ने गैहलोर अवस्थित पर्वत पुरूष दशरथ मांझी स्मृति भवन का निरीक्षण करते हुए और आकर्षक बनवाने का निर्देश दिया। उन्होंने बताया कि पर्वत पुरुष स्वर्गीय दशरथ मांझी द्वारा पहाड़ को काटकर जो रास्ता बनाया गया है उस रास्ते को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित किया जाएगा ताकि लोग स्वर्गीय दशरथ मांझी की कीर्ति से प्रेरणा ले सकें।  जिला पदाधिकारी ने बताया कि स्मृति भवन में स्वर्गीय दशरथ मांझी द्वारा उपयोग में लाई गई हथौड़ी छेनी इत्यादि को संरक्षित रूप से शीशा नुमा आकार में स्मृति भवन के मुख्य हॉल में लोगों के दर्शनार्थ रखी जाएंगी। साथ ही उन्होंने नए टाइल्स बिछाने, आकर्षक लाइट, चबूतरा सहित अन्य व्यवस्थाएं दुरुस्त कराने का निर्देश दिया ताकि बाहर से आने वाले पर्यटक इन सभी वस्तुओं का अवलोकन कर सकें तथा पर्यटन के क्षेत्र में और अधिक विकास हो सके। उन्होंने पर्यटन विकास मिशन के अभियंता को फटकार लगाते हुए कहा कि स्मृति भवन के हॉल में जो फ्लोर ढ़स गया है उसे अति शीघ्र मरम्मत करावे। उन्होंने कहा कि स्मृति भवन के अंदर वॉल पेंटिंग के साथ-साथ दशरथ मांझी जी का विभिन्न फोटोग्राफ्स को सुसज्जित ढंग से लगावे ताकि आने वाले पर्यटक उनकी कृतियों को जान सकें। स्मृति भवन के बाहर मेन द्वार से मुख्य सड़क तक ईट सोलिंग का रास्ता काफी खराब रहने पर उसे तेजी से दुरुस्त करवाने का निर्देश दिए।
पर्वत पुरुष दशरथ मांझी के समाधि स्थल निरीक्षण के दौरान उन्होंने जिला पर्यटन पदाधिकारी तथा पर्यटन निगम के अभियंता को निर्देश दिया कि समाधि स्थल तथा आसपास के एरिया में सोलर युक्त लगाए गए लाइट यदि किसी कारणवस खराब है तो उसे जांच करते हुए सोलर को ठीक कराएं अन्यथा तत्काल बिजली कनेक्शन लेते हुए बिजली के माध्यम से प्रकाश की व्यवस्था सुनिश्चित करावे। समाधि स्थल के समीप बने पब्लिक टॉयलेट के निरीक्षण के दौरान उन्होंने प्रखंड विकास पदाधिकारी मोहड़ा अनुमंडल पदाधिकारी बथानी को निर्देश दिया कि टॉयलेट को मेंटेन रखने के लिए कार्य योजना तैयार करें ताकि शौचालय हमेशा साफ सुथरा एवं फंक्शनल रहे। जिला पदाधिकारी ने कार्यपालक अभियंता भवन विभाग को निर्देश दिया कि दशरथ मांझी समाधि स्थल के समीप बने तोरण द्वार को अच्छे से पोलिस कराते हुए साफ सुथरा करावे। उन्होंने बिजली विभाग के अभियंता को निर्देश दिया कि सड़क के किनारे लगे हाई मास्क लाइट जो वर्तमान में खराब है उसे अतिशीघ्र चालू करावे।
नल जल योजना के समीक्षा के दौरान जिला पदाधिकारी ने स्थानीय जनप्रतिनिधियों से समाधि स्थल वार्ड संख्या 9 एवं 10 में नल जल योजना अंतर्गत घर घर वाटर कनेक्शन की जानकारी साथ ही सरकारी चापाकल फंक्शनल की जानकारी ली। उपस्थित जनप्रतिनिधियों द्वारा बताया गया कि कुछ महादलित टोला में अतिरिक्त चापाकल की आवश्यकता है। जिला पदाधिकारी ने कार्यपालक अभियंता लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग को संबंधित टोलो में नए चापाकल लगवाने का निर्देश दिए साथ ही जो खराब चापाकल हैं उसे मरम्मत करवाने का भी निर्देश दिए। समाधि स्थल के सौंदर्यीकरण के समीक्षा के दौरान उन्होंने हॉर्टिकल्चर विभाग से समन्वय स्थापित कर सौंदर्यीकरण करवाने का निर्देश दिए। समुदायिक भवन के निरीक्षण के दौरान समुदायिक भवन का छत में पानी का रिसाव होने के कारण जर्जर हो गया है। जिला पदाधिकारी ने संबंधित अभियंता को अति शीघ्र मरम्मत करवाने का निर्देश दिए।
इसके उपरांत उन्होंने मोहड़ा प्रखंड के तेतर पंचायत में गंगा उद्धव प्रोजेक्ट के तहत वाटर स्टोरेज प्लांट का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान जल संसाधन विभाग के अभियंता द्वारा बताया गया कि यह डैम लगभग 3.6 स्क्वायर किलोमीटर क्षेत्र में फैला हुआ है। इस डैम में लगभग 18 लाख मिलियन क्यूबिक मीटर पानी स्टोर किया जाएगा। इस डैम के निर्माण के दौरान कुल 41 व्यक्तियों का घर चरवारा में शिफ्ट कराया गया है। साथ ही सभी संबंधित व्यक्तियों को मुख्यमंत्री आवास योजना के तहत लाभ भी दिया गया है। वर्तमान में डैम में बोल्डर पीचिंग का कार्य चल रहा है। जिला पदाधिकारी ने कहा कि हर हाल में इस वर्ष गंगा का पानी तेतर लाया जा रहा है। इसे लेकर सभी व्यवस्थाएं 10 से 15 दिन के अंदर ही पूर्ण कर ले।


Share