E-Paper home Live News गया जिला

आयुक्त मगध प्रमंडल की अध्यक्षता में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से मगध प्रमंडल, गया के संबंधित जिले में परिवहन व्यवस्था में आवश्यक सुधार लाने हेतु बैठक का आयोजन किया गया।

Share

जन जोश हिंदी समाचार पत्र

03 दिसंबर, 2021


गया: आयुक्त मगध प्रमंडल, गया मयंक वरवड़े की अध्यक्षता में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से मगध प्रमंडल, गया के संबंधित जिले यथा गया, जहानाबाद, अरवल, नवादा एवं औरंगाबाद में परिवहन व्यवस्था में आवश्यक सुधार लाने हेतु बैठक का आयोजन किया गया।
बैठक में आयुक्त द्वारा प्रमंडल के सभी जिला पदाधिकारी एवं वरीय पुलिस अधीक्षक/पुलिस अधीक्षक से ट्रैफिक जाम एवं दुर्घटना की समस्या, बस स्टैंड की उपलब्धता, बायपास, आर०ओ०बी०(रेलवे ओवर ब्रिज) की उपलब्धता, क्रेन की उपलब्धता, यातायात थाना की उपलब्धता इत्यादि समस्याओं पर विस्तार से विचार-विमर्श किया गया।
बैठक में आयुक्त द्वारा सभी संबंधित जिला पदाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक को निदेश दिया गया कि कल शाम तक उनके जिले में ट्रैफिक जाम एवं दुर्घटना से संबंधित स्थान, परिवहन व्यवस्था में आने वाली समस्या तथा उनके समाधान हेतु किए जा रहे उपायों/किए जाने वाले कार्यों से संबंधित प्रतिवेदन भेजना सुनिश्चित करें।
आयोजित बैठक में पुलिस महानिरीक्षक, मगध प्रक्षेत्र अमित लोढ़ा द्वारा यातायात थाने की स्थिति, दुर्घटना एवं ट्रैफिक जाम की स्थिति, यातायात सुरक्षा हेतु वाहनों की जांच, बस/टेंपो स्टैंड, मुख्य सड़कों पर साइनेजेज लगाने सहित अन्य महत्वपूर्ण बिंदुओं पर विचार-विमर्श किया गया तथा निदेश दिया गया कि जिला पदाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक द्वारा अभियान चलाकर ट्रैफिक जाम एवं सड़क दुर्घटना में कमी लाने का प्रयास करें। उन्होंने निदेश दिया कि जिस जिले में बस स्टैंड बने हैं परंतु अब तक प्रारंभ नहीं हुए हैं उन्हें अतिशीघ्र चालू करवाएं, साथ ही सड़कों पर बस/ऑटो रिक्शा खड़े ना रहे इसे सुनिश्चित करें। साथ ही जिला पदाधिकारी, पुलिस अधीक्षक, जिला परिवहन पदाधिकारी, ट्राफिक पुलिस पदाधिकारी, परिवहन व्यवस्था से जुड़े अन्य पदाधिकारी एवं पुलिस पदाधिकारी गहन विचार विमर्श कर ट्रैफिक व्यवस्था को दुरुस्त करने का प्रयास करें।
बैठक में आयुक्त द्वारा सभी जिला पदाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक को निदेश दिया गया कि गृह रक्षा वाहिनी, पुलिस की बहाली प्रक्रिया हेतु अग्रेतर कार्रवाई नगर इकाई चुनाव के पूर्व करना सुनिश्चित करें। साथ ही अपने-अपने जिले के शहरी क्षेत्र का मास्टर प्लान तैयार कर भेजें।
बैठक में जिला पदाधिकारी, गया अभिषेक सिंह ने बताया कि जिले के शहरी क्षेत्रों के काशीनाथ मोड़, जी०बी० रोड, किरानी घाट, डेल्हा थाना क्षेत्र, के पी रोड, घुघरी टांड़ बाईपास, मिर्ज़ा ग़ालिब कॉलेज, बेलागंज क्षेत्र, शेरघाटी इत्यादि सहित अन्य स्थानों पर ट्रैफिक जाम की समस्या रहती है। उन्होंने बताया कि जी०बी० रोड एवं काशीनाथ में फुटपाथ को हटाकर सड़क चौड़ा किया गया है परंतु सड़कों पर ऑटो रिक्शा ठेला छोटी-छोटी दुकानों, खोमचा इत्यादि के कारण जाम लगा रहता है। उन्होंने स्पष्ट रुप से कहा कि कहीं भी टेंपो स्टैंड नहीं है जिसके कारण इधर-उधर टेंपो लगाया जा रहा है। गांधी मैदान में नो वेंडिंग जोन का अनुपालन आवश्यक है। उन्होंने आयुक्त तथा पुलिस महा निरीक्षक को बताया कि जिले में अभियान चलाकर सड़कों पर बने अवैध संरचना, दुकानों इत्यादि को हटाया जाएगा। उन्होंने कहा कि जाम लगने वाले कई स्थानों पर फ्लाईओवर का प्रस्ताव भेजा गया है जो आर०सी०डी० के पास पास लंबित है। उन्होंने कहा कि जिले में क्रेन की व्यवस्था है।
उन्होंने कहा कि बेलागंज क्षेत्र में भी ट्रैफिक जाम एक समस्या है, परंतु NH-83 के बन जाने के बाद जाम की समस्या से राहत मिलने की उम्मीद है।
उन्होंने कहा कि जिले में फ्लाईओवर का निर्माण, आर०ओ०बी०, फल्गु नदी पर ब्रिज के निर्माण तथा टेंपो स्टैंड बन जाने से भी ट्रैफिक जाम से निजात मिल सकता है। उन्होंने यह भी बताया कि सड़कों पर इलेक्ट्रिक पोल, ट्रांसफार्मर, होर्डिंग इत्यादि गलत तरीके से लगे हैं, जिन्हें ठीक करना आवश्यक है। जिला पदाधिकारी, गया ने कहा कि स्कूल की छुट्टी होने पर मिर्जा गालिब कॉलेज के निकट भी जाम लगती हैं।
बैठक में वरीय पुलिस अधीक्षक, गया आदित्य कुमार ने कहा कि जिले की शहरी क्षेत्रों यथा केदारनाथ मार्केट, कोतवाली थाना क्षेत्र, मुफ्फसिल मोड़ इत्यादि स्थानों पर मल्टी लेवल पार्किंग स्थल के निर्माण से जाम की समस्या में कमी आ सकती है। साथ ही उन्होंने कहा कि किरानी घाट पर भी जाम लगता है, U-टर्न के अलावा कुछ आवश्यक व्यवस्था करने की आवश्यकता है। उन्होंने बताया कि दो यातायात थाना है यथा बोधगया एवं नगर क्षेत्र में कार्ररत है।
जिला पदाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक, औरंगाबाद द्वारा बताया गया कि जिले में ट्रैफिक थाने नहीं हैं तथा क्रेन भी उपलब्ध नहीं है। उन्होंने कहा कि शहर के अंदर काफी जाम रहती है। जिले में बस स्टैंड है, जिसे जिला परिषद द्वारा संचालित किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि सड़क सुरक्षा हेतु नियमित रूप से वाहन चेकिंग कराया जा रहा है। हेलमेट, सीट बेल्ट इत्यादि का उपयोग नहीं किए जाने पर जुर्माना वसूल की जा रही है तथा चालकों को परिवहन सुरक्षा के बारे में बताया भी जा रहा है।
जिला पदाधिकारी जहानाबाद द्वारा बताया गया कि पटना-गया रोड दरधा नदी के ऊपर, अस्पताल मोड़, अरवल मोड़ तथा मेन मार्केट मखदुमपुर शहरी क्षेत्र, काको मोड़ पर अधिक जाम रहती है। उन्होंने जिले में क्रेन की आवश्यकता तथा ट्रैफिक थाना की आवश्यकता बताया। साथ ही अरवल मोड़ पर T-टाइप ब्रिज बनाने का प्रस्ताव रेलवे को भेजने की बात कही। जिले में बाईपास के निर्माण का प्रस्ताव भी भेजा गया ।
बैठक में जिला पदाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक, नवादा द्वारा बताया गया कि इस शहर के अंदर सदर अस्पताल रोड, रेलवे गुमटी, NH-31 पर अंतरराज्यीय चेक पोस्ट के निकट हिसुआ बाजार पर जाम की समस्या रहती है। हिसुआ बाजार में बस स्टैंड को अलग शिफ्ट करने का प्रस्ताव भेजा गया।
जिला पदाधिकारी अरवल एवं पुलिस अधीक्षक द्वारा बताया गया कि अरवल मोड़ पर कुर्था बाजार हाईवे के बगल में ट्रक काफी रहते हैं तथा फ्लैंक में काफी गड्ढा हो जाने के कारण दुर्घटना की संभावना बनी रहती है।
बैठक में आयुक्त मगध प्रमंडल, गया, पुलिस महानिरीक्षक, मगध प्रक्षेत्र, गया, जिला पदाधिकारी गया, वरीय पुलिस अधीक्षक, गया, यातायात उपाधीक्षक, गया, जिला जन-संपर्क पदाधिकारी सहित अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे।


Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *