E-Paper औरंगाबाद जिला

सोननगर जंक्शन पर यात्री ट्रेनों के ठहराव के लिए स्थानीय ग्रामीणों ने रेल प्रशासन को सौंपा ज्ञापन

Share

शशि कुमार, जन जोश
पंडित दीनदयाल रेल मंडल अंतर्गत सोननगर जंक्शन पर पूर्व की भांति सभी यात्री ट्रेनों का ठहराव नहीं होने के कारण स्थानीय ग्रामीणों ने सोननगर स्टेशन मास्टर को एक ज्ञापन सौंपा है। सोन नगर निवासी अधिवक्ता शंभू राम ने बताया कि बिहार एवं झारखंड को जोड़ने वाला औरंगाबाद जिला अंतर्गत एकमात्र सोननगर जंक्शन स्टेशन है, जहां रेल प्रशासन द्वारा यात्री सुविधाओं का घोर उपेक्षा किया जा रहा है। बताया कि देहरादून एक्सप्रेस, जम्मूतवी सियालदह एक्सप्रेस, रांची-वाराणसी इंटरसिटी एक्सप्रेस, पटना-पलामू एक्सप्रेस, डेहरी-सिंगरौली-रांची-सासाराम एक्सप्रेस आदि कई मेल ट्रेनों के ठहराव सोन नगर जंक्शन पर वर्षों से होते आ रहा था कोविड-19 के प्रभाव के कारण अस्थाई तौर पर ठहराव को समाप्त कर दिया गया और कुछ ट्रेनों का ठहराव स्थाई रूप से ही समाप्त कर दी गई है व ट्रेन का ठहराव अभी तक पूर्व की भांति नहीं हो रही है। जिसके कारण आसपास के सैकड़ों गांवों के लोगों में रेल प्रशासन के खिलाफ आक्रोश है। बताया कि यात्रियों को यात्रा करने में काफी असुविधा का सामना भी कर पड़ रहा है। बारुण प्रखंड स्थित जवाहर नवोदय विद्यालय, सैकड़ों रेलवे क्वार्टर, यात्रियों के साथ-साथ एनपीजीसी और एनटीपीसी जैसे बड़े कंपनियां इससे जुड़े हैं। यात्रियों को ट्रेन का ठहराव ना होने के कारण काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा रहा है। गढ़वा से लेकर सोन नगर, इस्माइलपुर स्टेशन तक के हजारों रेलकर्मी का रेलवे अस्पताल सोननगर में आना जाना होता था। इस दौरान स्वहस्ताक्षरित पत्र का ज्ञापन देते हुए बुद्धिजीवी ग्रामीणों ने अपने ज्ञापन में मांग की है कि अगर दस दिनों के अंदर हम सबकी मांगे रेल प्रशासन पूर्ति नहीं करती है, तो हम सभी रेल प्रशासन के विरुद्ध आक्रोश प्रदर्शन करने को लेकर बाध्य होंगे। इस दौरान अधिवक्ता शंभू राम, अशोक कुमार, लव सिंह, सुरेंद्र प्रसाद, सरपंच अनिल शर्मा, प्रो० बिंदेश कुमार सिंह, सेवानिवृत्त पुलिस इंस्पेक्टर अवधेश कुमार, जवाहरलाल, पूर्व पंचायत समिति योगेंद्र पासवान, पैक्स अध्यक्ष धर्मेंद्र चौहान, समिति प्रतिनिधि अजय सिंह, हरी भूषण कुमार के साथ अन्य कई लोगों ने मिलकर स्थानीय विधायक डब्ल्यू सिंह के साथ सोन नगर स्टेशन मास्टर के हाथों अपनी मांगों को लेकर ज्ञापन सौंपा हैं।


Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *