E-Paper औरंगाबाद जिला

अवैध खनन व परिवहन के विरूद्ध लगातार चलेगी छापेमारी अभियान, पकड़े जाने पर होगी कारवाई

Share

शशि कुमार, जन जोश
राज्य सरकार ने बालू के अवैध खनन करने वाले लोगों पर कानूनी शिकंजा कसने को लेकर कई कड़े प्रावधानों की मंजूरी दी है। बालू के अवैध खनन पर रोक लगाने और बालू माफिया के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने को लेकर औरंगाबाद पुलिस प्रशासन बिल्कुल सख्त दिख रही है। बताते चले की बिहार सरकार ने पर्यावरण के हितों को ध्यान में रखकर बिहार खनिज नियमावली को मंजूरी दी है। इस नियमावली में अवैध खनन में पकड़े जानेवाले व्यक्तियों को दो साल की सजा का भी प्रवधान है। सरकार द्वारा जल-जीवन-हरियाली अभियान के तहत जल संरक्षण, नदियों की अविरलता और राज्य में हरित आवरण को बढ़ाने के लिए अवैध बालू खनन में संलिप्त माफिया के खिलाफ कार्रवाई के लिए नियमावली में संशोधन भी किया गया है। लगातार छापेमारी अभियान के बाद भी बालू माफिया चोरी छिपे अवैध कारोबार से बाज नही आ रहे हैं, लेकिन प्रशासन भी पीछे नही हट रही है और लगातार कारवाई भी कर रही है। इसी कारवाई के दौरान बारूण मे छापेमारी कर कई ट्रकों को बालू सहित पकड़ा गया है। औरंगाबाद सदर एसडीपीओ गौतम शरण ने कहा कि सोन नदी से हो रही अवैध खनन की शिकायत मिली है। जिसे लेकर प्रशासन शख्त है और अवैध कारोबार को रोकथाम के लिए लगातार छापेमारी अभियान चलाये जा रहें हैं और कारवाई भी हो रही है। अवैध बालू खनन में शामिल वाहनों को जब्त किया जायेगा। साथ ही अवैध बालू खनन करनेवाले माफियाओं से सम्बंधित अधिकारी द्वारा बालू की रॉयल्टी की 25 गुनी राशि जुर्माने के रूप में वसूली जायेगी। इसके अलावा अवैध बालू खनन के दोषियों पर सख्त कानूनी कारवाई भी होगी। बताया गया कि सोमवार की रात खनन निरीक्षक व थानाध्यक्ष के साथ मिलकर थाना क्षेत्र के कर्मकिला के समिप छापेमारी कर अवैध बालू लदे 6 ट्रकों को जप्त किया।


Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *